इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शुक्रवार, 25 दिसंबर 2009

यूट्यूब के एक वीडियो में कहा गया है कि एचपी कंपनी के लैपटॉप में लगे 'फ़ेस रिकगनिशन' यानी चेहरा पहचानने वाला कैमरा काले चेहरों को नहीं पहचान पाता.इस वीडियो को अब तक दस लाख से अधिक लोगों ने देखा इस महीने के शुरुआत में लगाए गए इस वीडियो में दो पात्र हैं, 'ब्लैक देसी' और उसकी सहयोगी 'व्हाइट वांडा'.
                                                                जब वांडा, जो एक श्वेत महिला हैं, जब इस कैमरे के सामने आती हैं जो कैमरा उनके चेहरे पर ज़ूम करता है और वो अगर अपने चेहरा हिलाती डुलाती हैं तो कैमरा उनकी ओर घूमता है.लेकिन जब देसी, जो एक अश्वेत पुरुष हैं इस कैमरे के सामने आते हैं तो और ऐसा ही करते हैं तो कैमरा ऐसी कोई प्रतिक्रिया नहीं देता.हालांकि यह वीडियो फ़िल्म मज़े लेने के अंदाज़ में बनाई गई है लेकिन इसका शीर्षक है, 'एचपी कंप्यूटर्स आर रेसिस्ट' यानी एचपी के कंप्यूटर रंगभेदी हैं.इस फ़िल्म पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए एचपी के प्रवक्ता ने  कहा, "इस बड़े मुद्दे की ओर एचपी के फ़ेस ट्रैकिंग सॉफ्टवेयर की ओर ध्यान आकर्षित किया गया है, ऐसा लगता है कि वह उस समय काम नहीं करता जब चेहरे पर पर्याप्त रोशनी न पड़ रही हो."उन्होंने कहा है, "हमने इसे गंभीरता से लिया है और हम अपने पार्टनर्स के साथ इस पर काम कर रहे हैं."

========================================================================

नस्ल

 भेदी                   मिशेल की नस्लभेदी तस्वीर, माफ़ी मांगी
 बात
 बुरी
 =========================================================================



व्हाइट हाउस ने इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की है


अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा की एक नस्लभेदी तस्वीर के लिए गूगल ने माफ़ी मांगी है.
जब कोई व्यक्ति 'गूगल सर्च इंजन' में मिशेल ओबामा की तस्वीर ढूंढ़ता है तो उसे एक ऐसी तस्वीर दिखती है जो नस्लभेदी और अप्रिय है.
इस तस्वीर को मिशेल ओबामा की असली तस्वीर के साथ छेड़-छाड़ कर तैयार किया गया है.गूगल ने 'ऑफ़ेनसिव सर्च रिज़ल्ट' तस्वीर के ऊपर एक लिखित विज्ञापन दिया है जिसमें लिखा हुआ है, "हम मानते हैं कि कभी-कभी हमारे सर्च इंजन में परिणाम जो आते हैं वह अप्रिय हो सकते हैं."
यदि आपको गूगल का इस्तेमाल करते हुए बुरा अनुभव हुआ है, हम माफ़ी मांगते हैं
                                                                              गूगल कंपनी
गूगल कंपनी ने कहा है, "यदि आपको गूगल का इस्तेमाल करते हुए बुरा अनुभव हुआ है, हम माफ़ी मांगते हैं. "
हालांकि गूगल ने अपने सर्च इंजन से उस तस्वीर को नहीं हटाया हैव्हाइट हाउस ने इस तस्वीर पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.

कोई टिप्पणी नहीं:

यह ब्लॉग खोजें

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

jrurt

jrurt
jrurt
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

मेरी ब्लॉग सूची

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

समर्थक